1.भ्रष्टाचार मुक्त देश -प्रदेश  की विचाराधारा को मूर्त रूप देने के लियें सशक्त लोकपाल व प्रदेश में लोकायुक्त का गठन जिसमें स्वयं मुख्यमंत्री तक उसके दायरे में आयें तथा दोषी को तत्काल सजा दीं जायें 


2.मधपान निषेध नीति के तहत राज्य सरकार पर दबाव बना कर पूर्ण शराब बंदी तथा तम्बाकू को निषेध करवाया जायें


3.किसानो के हितो की रक्षा हेतु कुछ आवश्यक कार्य दबाव समूह के रूप में प्रदेश सरकार से करवाये जेसे -स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू कीं जायें , किसानो का क़र्ज़ा माफ़ किया जायें ,किसान परिवार को नि:शुल्क शिक्षा व स्वास्थ्य सुविधा दीं जायें, बिजली बिल ,खाद ,किटनाशक आदि उचित दरों पर उपलब्द करवाये


4.डी॰एन॰टी॰ वर्ग में आने वाली सभी जातियों को समाज की मुख्य धारा में लाकर उनका विकास सुनिश्चयत् करने कि दिशा में काम करना जिससे प्रदेशवासियों का सभी स्तर पर उदय हो सके


.5.बेरोज़गारी दूर करने के लियें स्वरोज़गार हेतु शिक्षण संस्थान खोलना ,तथा राज्य सरकार पर दबाव समूह के रूप में कार्य कर बेरोज़गारी समस्या समाधान के लिए कार्य करना ...


6.२शिक्षा के माध्यम से सबका उदय इस विचार को मूर्त रूप देने हेतु वंचित तथा विशेष वर्ग (विकलांग,अनाथ ,सेनिक परिवार ,बी॰पी॰एल॰परिवार ,विधवा महिला के बच्चे ,)आदि को पूर्णत: नि:शुल्क शिक्षा कीं व्यवस्था करना तथा शिक्षा  से सबका उदय जागृति अभियान के माध्यम से प्रदेश में शिक्षा का प्रचार -प्रसार कर आम जन को शिक्षा से जोड़कर विकास की मुख्य धारा में लाने हेतु कार्य करना ।


7.स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करना  जेसे -वंचित व विशेष वर्ग के लियें नि:शुल्क चिकित्सा सेवा प्रदान करना । तथा प्रदेश में चिकित्सा शिविर लगा कर आमजन को स्वास्थ्य लाभ पहुचाते हुए दबाव समूह के रूप में कार्य करते हुए प्रदेश सरकार के माध्यम से  सभी प्रदेश्वासियो को चिकित्सा सुविधा तथा बेरोज़गारों को एस क्षेत्र् रोज़गार दिलवाने हेतु कार्य करना